IPL पर पाकिस्तान की पॉलीटिक्स, बोला- नहीं टाल सकते एशिया कप...पढ़े..



कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते पूरी दुनिया में क्रिकेट गतिविधियां थमी हुई हैं। लेकिन इनके शुरू होने से पहले ही इर्द-गिर्द चलने वाली हलचल शुरू हो गई है। कोविड-19 के चलते इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का यह सीजन टाल दिया गया है। लेकिन बीसीसीआई ने इसे अभी तक रद्द नहीं किया। शायद उसे उम्मीद है कि माहौल ठीक होने के बाद इस लीग का आयोजन करवाया जा सकता है। पर सवाल यह है कि आखिर यह विंडो बनेगी कब? और मौजूदा परिस्थितियों में जो विंडो बनती नजर आ रही है वही बवाल का असली मुद्दा है।

IPL को मिल सकती है विंडोअसल में यह चर्चा चल रही है सब ठीक रहने पर सितंबर या दिसंबर में आईपीएल (IPL) का आयोजन हो सकता है। 18 अक्टूबर से ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप होना है और इससे पहले विंडो मिलने पर आईपीएल खेला जा सकता है। और असल, परेशानी यहीं है। पाकिस्तान की मेजबानी में सितंबर में यूएई में एशिया कप खेला जाना है और पीसीबी एशिया कप की मेजबानी छोड़ना नहीं चाहता।

बिना भारत के एशिया कप करवाने का कोई लाभ ही नहीं तो पीसीबी मुख्यत: दबाव की पॉलीटिक्स कर रहा है। दूसरा, आईपीएल में पाकिस्तानी क्रिकेटर तो खेलते नहीं और उसके खिलाड़ियों के आर्थिक हित भी इससे प्रभावित नहीं होते। और, शायद उसे यह भी लग रहा हो कि जब हमारे खिलाड़ी इसका हिस्सा नहीं होते तो इसके लिए ज्यादा फिक्रमंद क्यों हुआ जाए। दूसरी ओर, बीसीसीआई (BCCI) की ओर से आईपीएल को लेकर कोई बयान जारी नहीं हुआ है। बोर्ड ने पहले 15 अप्रैल और अनिश्चितकाल के लिए इस सीजन को टाल दिया है। बोर्ड इस बात से वाकिफ है कि आगे भी स्लॉट मिलना कितना मुश्किल होगा।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां